कोरोना वायरस के बीच आईपीएल का आयोजन होने से देश को होगा ये बड़ा फायदा

आईपीएल 2020 के आयोजन को लेकर कुछ भी साफ नहीं है कोरोना वायस के चलते लीग को अनिश्चितकाल के स्थगित किया गया है। बीसीसीआई कोरोना वायरस के बीच आईपीएल आयोजित कराना चाहती है और उसका मानना है कि इससे देश को फायदा होगा। इसको लेकर बीसीसीआई के अध्यक्ष अरुण धूमल ने खुद कहा है कि आईपीएल एंटरनटेनमेंट नहीं है,बल्कि इससे सैकड़ों लोगों की जिंदगी भी चलती है जो इस पर निर्भर हैं।
साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हम आईपीएल को इसलिए भी आयोजित कराना चाहते हैं जिससे कि इस कोरोना वायरस महामारी में लोगों का थोड़ा मूड बदल जाए, क्योंकि लोग अभी डरे हुए हैं और उनका कम से कम लाइव क्रिकेट देखकर अपना मन बहलाने का मौका मिल जाएगा। बता दें कि कोरोना वायरस के मामले भारत में 2 लाख के पार जा चुके हैं और ऐसे में खाली मैदानों में ही लीग का आयोजन संभव है।
आईपीएल दुनिया की सबसे लोकप्रिय लीगों में से एक है जिसमें दुनिया भर के खिलाड़ी भाग लेते हैं।बीसीसीआई की ओर से यह भी कहा गया है कि गर आइपीएल नहीं होता है, तो क्रिकेट गतिविधियों को बनाए रखना मुश्किल होगा। बीसीसीआई को भी लीग के ना  होने  से आर्थिक नुकसान होगा।
इसका असर खिलाड़ियों पर भी पड़ना स्वभाविक है। बीसीसीआई लगातार मौजूदा स्थिति पर नजर बनाए हुए है और गौर करने काम कर रही है कि कैसे लीग को आयोजन हो सकता है।बीसीसीआई ने भारत के अलावा विदेश धरती पर भी आईपीएल 2020 को आयोजित कराने का विकल्प रखा है।अब देखने वाली बात रहती है कि आईपीएल का आयोजन हो पाता है या नहीं।

Leave a Reply