बॉयकॉट चीन से बीसीसीआई को हो सकता है 1675 करोड़ रुपये का नुकसान, जानें पूरा आंकड़ा

बीसीसीआई

बीसीसीआई दुनिया की सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड माना जाता है। सूत्रों की माने तो बीसीसीआई की सालाना कमाई 11900 करोड़ रुपये है। लेकिन अगर बीसीसीआई बॉयकॉट चीन के समर्थन में उतरेगा तो उसे करोड़ो रूपये का नुकसान उठाना पड़ सकता है।
गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच चल रहे संघर्ष और झड़प के बीच भारत मे बॉयकॉट चीन अभियान चल उठा है। इस अभियान में भारतीय नागरिक चीनी सामानों का विरोध और उसे इस्तेमान न करने की मुहिम चला रहे है। अब अगर ऐसी ही मुहिम चलती रही तो चीनी कम्पनी द्वारा स्पॉन्सर आईपीएल में वीवो कंपनी को हटाना पड़ेगा जिससे बीसीसीआई को 1675 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ सकता है।
बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि चीनी फ़ोन निर्माता कंपनी वीवो आईपीएल का टाइटल प्रायोजक बना रहेगा। उन्होंने आगे कहा कि भले ही चीनी ब्रांड आईपीएल के टाइटल स्पॉन्सर हो लेकिन यहां लोगो को समझना होगा कि उनसे कमाया जाने वाला पैसा देश मे ही रहेगा।

बीसीसीआई भले ही दुनिया का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड है जिसकी कमाई कुल 11,900 करोड़ रुपये है लेकिन अगर यहां हम चीनी स्पॉन्सर का बहिष्कार करते हैं तो इससे चीनी कंपनियों को बहुत कम फर्क पड़ेगा। लेकिन अगर बीसीसीआई के नुकसान की बात करें तो यहां बोर्ड को 1675 करोड़ रुपये का नुकसान हो जाएगा जो काफी ज्यादा है। इसमें स्पॉन्सरशिप डील्स और बाकी बचे जो डील्स हैं वो शामिल हैं।
इसके अलावा 1000 करोड़ रुपये का नुकसान ब्रॉडकास्टिंग से होगा जिसमें एड और चीनी कम्पनियो से पैसा मिलता है।
पिछेल कुछ नीलामी की अगर बात करें तो ये टक्कर वीवो और ओप्पो के बीच हुई थी जहां जिसने ज्यादा पैसा दिया था उसे स्पॉन्सर मिला था। ऐसे में अगर बीसीसीआई को अपनी कुल वैल्यू को बचाकर रखना है तो उसे अपने आसपास 2,3 कंपनियां रखनी ही होगी जिससे अगली बार सभी के बीच में प्रतियोगिता हो और बीसीसीआई को ज्यादा पैसे मिले नहीं तो बीसीसीआई को भारी नुकसान का सामना करना पड़ा सकता है।

बीसीसीआई और चीनी स्पॉन्सर डील (लगभग)

वीवो – पांच साल के आईपीएल टाइटल प्रायोजक सौदे पर 2200 करोड़. 450 करोड़ प्रति वर्ष – शेष दो वर्षों के लिए 900 करोड़.

पेटीएम – 326 करोड़ – 2023 तक शेष तीन वर्ष के लिए 180 करोड़ का नुकसान.

ड्रीम इलेवन – आईपीएल के चार वर्षों के लिए 210 करोड़ – शेष तीन वर्षों के लिए 150 करोड़ का नुकसान.

स्विगी- प्रति वर्ष 50 करोड़, शेष एक वर्ष के लिए 25 करोड़ का नुकसान.

बायजू – पांच साल के लिए 1079 करोड़ की जर्सी प्रायोजक, लगभग 210 करोड़ प्रति वर्ष – शेष दो वर्षों के लिए 420 करोड़ का नुकसान.

विज्ञापन के माध्यम से स्टार को राजस्व हानि से अतिरिक्त 1000 करोड़

Leave a Reply