युवराज सिंह का बड़ा खुलासा, IPL में नहीं मिलती थी इज्जत, KXIP से भागना चाहते थे युवी

सिक्सर किंग युवराज सिंह रिटायरमेन्ट के बाद कई अहम खुलासे किए है। अब उन्होंने किंग्स इलेवन पंजाब के बारे में भी कुछ खुलासे किए है जो कि काफी सनसनी मचा रहा है।
साल 2007 में टी20 वर्ल्ड कप में युवराज सिंह ने स्टुअर्ड ब्रॉड की गेंद पर लगातार 6 छक्के लगाकर रिकार्ड बनाया था। इसके बाद आईपीएल में किंग्स इलेवन की तरफ से युवराज को टीम का कमान सौपा गया।
युवराज 2008 से 2010 तक पंजाब के कप्तान रहे और अब युवराज सिंह ने कहा है कि उस समय किंग्स इलेवन पंजाब की टीम मैनेजमेंट काफी परेशानी खड़ी कर रही थी। और उस समय मैं टीम से भाग जाना चाहता था। युवराज ने अपने अनुभव को शेयर करते हुए कहा, ‘किंग्स इलेवन टीम मैनेजमेंट के काम करने का तरीका उन्हें पसंद नहीं था। मुझे बस पंजाब की टीम की जर्सी के अलावा और किसी चीज से प्यार नहीं था।’
युवराज पुणे वारियर्स, रॉयल चैलेंजर बैंगलोर, दिल्ली डेयर डेविल्स, सनराइजर्स हैदराबाद और मुंबई इंडियंस टीम का हिस्सा रह चुके है। युवी ने किंग इलेवन के मैनेजमेंट के बारे में बात करते हुए कहते है कि, ” मेरी बात नही मानी जाती थी। मैं जैसा कहता वो वैसा कुछ नही करते और जब मैंने टीम का साथ छोड़ा तो मैं उन सभी खिलाड़ियो को अपने टीम में रखने में सफल रहा जिन्हें मैं पंजाब की टीम में रहते हुए नही रख पाया था।
नेस वाडिया और प्रीति जिंटा की मालिकाना हक वाली किंग्स इलेवन पंजाब के साथ 2008 से 2010 तक रहने वाले युवी के नाम आईपीएल के 137 मैच में 1077 रन हैं। इस ऑलराउंडर ने आईपीएल में दो बार हैट्रिक भी हासिल की है।
युवराज़ के इस बयान पर अभी तक किंग्स इलेवन और उनके टीम मैनेजमेंट के सदस्य की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नही दिया गया है। और अब पूरी सच्चाई प्रतिक्रिया आने के बाद ही साफ हो पाएगी।

Leave a Reply