युवराज सिंह के पिता ने धोनी पर लगाए थे ऐसे संगीन आरोप, सालों बाद कैफ ने जो कहा सुन लीजिए

युवराज को कहा छोटे फॉर्मेट का प्लेयर और पूर्व बल्लेबाज कैफ से जब युवराज सिंह के पिता के आरोपों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनके आरोप सही नहीं लगते। उन्होंने यह भी कहा कि युवराज को कुछ मौके मिलने चाहिए थे, लेकिन वे छोटे फॉर्मेट के चैंपियन प्लेयर हैं।

फॉर्म खोने पर होती है मुश्किल कैफ ने यह भी कहा कि एक बार जब कोई प्लेयर फॉर्म में नहीं रह जाता तो उसे टीम में जगह बनाए रख पाने में मुश्किल हो जाती है। अगर कोई प्लेयर कुछ मैचों में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाता, तो उसे मौका देना रिस्की हो जाता है।

कई खिलाड़ी होते हैं कतार में लाइव सेशन में कैफ ने कहा कि टीम में शामिल होने के लिए कतार में कई खिलाड़ी होते हैं, जिनका प्रदर्शन अच्छा होता है। ऐसे में, अगर कोई खिलाड़ी अगर लगातार खराब प्रदर्शन कर रहा हो, तो उसे टीम में बनाए रख पाना संभव नहीं हो पाता।

धोनी पर आरोप निराधार नैटवेस्ट सीरीज-2002 के सफलतम खिलाड़ी रहे मध्य क्रम के बल्लेबाज मोहम्मद कैफ ने कहा कि धोनी एक सफल कप्तान रहे हैं और उन पर किसी तरह का आरोप लगाना निराधार है। किसी भी कप्तान को टीम चुनने के लिए थोड़ी आजादी होनी चाहिए।

मोहम्मद कैफ ने कहा कि धोनी पर सवाल तब उठाया जा सकता था, जब वे असफल होते। लेकिन उनका रिकॉर्ड बेहतरीन रहा और उन्होंने भारत को कई ट्रॉफी दिलवाई। यही वजह है कि चयनकर्ताओं ने उनके सुझावों को गंभीरता से लिया और उन पर ध्यान दिया। इसे पक्षपात नहीं कहा जा सकता।
टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज मोहम्मद कैफ ने युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह के बरसों पहले के उस बयान का खंडन किया है, जिसमें उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी पर यह आरोप लगया था कि वे टीम के चयन में पक्षपात करते थे। बता दें कि अपनी कप्तानी में पहली बार भारत को अंडर-19 में वर्ल्ड कप दिलवाने वाले मोहम्मद कैफ ने शनिवार को हेलो ऐप पर एक लाइव सेशन में युवराज सिंह के पिता के आरोपों को गलत बतलाया।

Leave a Reply