आईपीएल शुरू होने से पहले श्रीसंत के लिए खुशखबरी, 7 साल का इंतजार खत्म

भारतीय टीम के स्टार गेंदबाज रह चुके श्रीसंत पर लगा हुआ बैन अब खत्म हो चुका है। 7 साल बाद श्रीसंत मैदान में वापसी के लिए तैयार है। आपको बता दे कि श्रीसंत पर स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में आजीवन क्रिकेट खेलने पर प्रतिबंध लग गया था। लेकिन बाद में सुप्रीम कोर्ट ने इसे घटाकर 7 साल के लिए कर दिया था।

37 साल के श्रीसंत ने कहा है कि बैन के बाद वो घरेलू क्रिकेट खेलने के लिए तैयार है। सुप्रीम कोर्ट का बैन पूरा होने के बाद अब केरल बोर्ड ने श्रीसंत को मौका देने की बात कर रहा है। सब कुछ सही रहा तो श्रीसंत को एक बाद फिर मैदान पर देखा जा सकेगा।

श्रीसंत ने क्या कहा

बैन खत्म होने से पहले श्रीसंत ने ट्वीट करते हुये लिखा था कि, अब मैं पूरी तरह से फ्री हो जाऊंगा और अपने पसंदीदा खेल का फिर से अनुभव कर पाऊंगा। उन्होंने आगे लिखा, मैं जिस भी टीम से खेलूंगा अपना बेस्ट देने की कोशिश करूंगा। अभी भी मेरे पास क्रिकेट को देने के लिए 5-7 साल है।

कब और कैसे लगा बैन

साल 2013 में आईपीएल के दौरान श्रीसंत पर ये आरोप लगाया गया कि वो स्पॉट फिक्सिंग में किसी भी तरह से कनेक्ट है। इनके ऊपर लगाए आरोप साबित होने के बाद ही श्रीसंत को आजीवन क्रिकेट खेलने पर पाबंदी लगा दिया गया। हालांकि बाद में सुप्रीम कोर्ट ने ये प्रतिबंध घटाकर 7 साल के लिए कर दिया गया था। साल 2013 में श्रीसंत के अलावा अजीत चंडीला और अंकित चौहान पर भी बैन लगाया गया था।

श्रीसंत का क्रिकेट करियर

इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल 15 मार्च को बीसीसीआइ की अनुशासन कमेटी के आदेश को रद कर दिया था और बोर्ड को सजा की अवधि कम करने पर विचार करने को कहा था। श्रीसंत ने भारत के लिए 27 टेस्ट, 53 वनडे और 10 टी 20 इंटरनेशनल मैच खेले थे। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने 87, वनडे में 75 जबकि टी20 क्रिकेट में 7 विकेट उनके नाम पर है। श्रीसंत एक आक्रामक तेज गेंदबाज के तौर पर जाने जाते हैं और उनके सेलीब्रेशन का अंदाज सबसे अलग था, लेकिन बैन के बाद इन सब पर ब्रेक लग गया था।

Leave a Reply