ICC का BCCI को धमकी, 2021 वर्ल्ड कप भारत से शिफ्ट करने पर विचार

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) को साफ कर दिया कि 2021 टी20 वर्ल्ड कप की मेजबानी भारत से वापस लेने का अधिकार ICC के पास है। BCCI इस वर्ल्ड कप के लिए भारत सरकार से टैक्स में छूट की रजामंदी प्राप्त नहीं कर पाया है।ईएसपीएनक्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार इस मुद्दे पर पिछले दो महीनों में BCCI और ICC के बीच जमकर ईमेल का आदान-प्रदान हुआ है। ICC ने BCCI से 18 मई तक इस बात की बिना शर्त पुष्टि चाही थी कि भारत सरकार के साथ लंबे समय से चले आ रहे टैक्स छूट विवाद का समाधान हो गया है, लेकिन बीसीसीआई ने इस डेडलाइन को 30 जून तक बढ़ाने की मांग की। बीसीसीआई ने कहा कि Covid-19 महामारी की वजह से उसे दी गई डेडलाइन बढ़ाकर 30 जून कर दी जाए लेकिन आईसीसी ने उसके अनुरोध को ठुकरा दिया।

आईसीसी के जनरल काउंसिल जोनाथन हॉल ने 29 अप्रैल को बीसीसीआई को लिखा था कि यदि वह इस प्रमुख शर्त को पूरा नहीं कर पाया तो आईसीसी इस मेजबानी के समझौते को 18 मई 2020 के बाद कभी भी समाप्त करने का अधिकार रखता है।

क्या है यह विवाद:

आईसीसी और बीसीसीआई के बीच यह विवाद भारत में 2016 में हुए टी20 वर्ल्ड कप के समय से शुरू हुआ था। उस समय बीसीसीआई भारत सरकार से वर्ल्ड कप के लिए छूट पाने में नाकाम रहा था जिसकी वजह से आईसीसी को 20-30 मिलियन डॉलर का नुकसान हुआ था। फरवरी 2018 में आईसीसी बोर्ड ने बीसीसीआई को चेतावनी दी थी कि यदि यह मामला नहीं सुलझा तो भारत को 2021 टी20 वर्ल्ड कप और 2023 वनडे वर्ल्ड कप की मेजबानी से वंचित होना पड़ सकता है। भारत में टैक्स छूट नहीं मिलने की स्थिति में आईसीसी को इन दो टूर्नामेंट के दौरान करीब 100 मिलियन डॉलर का नुकसान हो सकता है।

Leave a Reply