Dhoni

MS dhoni के संन्यास का असली वजह उनके दोस्त ने बताया

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान MS Dhoni के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अचानक अलविदा कहने पर लेग स्पिनर युजवेंद्रा सिंह चहल ने कहा है कि कोरोना ने धौनी के करियर को खत्म किया है, नहीं तो वह टी-20 विश्व कप में जरूर खेलते। कुलदीप यादव और मेरे करियर में धौनी ने बहुत मदद की है। उन्होंने एक बड़े भाई की तरह हमें सभी बारीकियों को बताया। अगर कोई गलती होती थी, तो वह ही हमें समझाते थे। उनके विकेट के पीछे खड़े होने से हम दोनों को ही बहुत फायदा हुआ।

चहल ने एक टीवी कार्यक्रम के दौरान कहा कि वो अब भी इंटरनेशनल क्रिकेट खेल सकते हैं और मैं चाहूंगा कि वो अब भी खेलें। भारतीय स्पिनर चहल ने कहा कि धौनी अगर मैदान पर रहते थे तो मेरा 50 फीसदी काम हो जाता था। उन्होंने कहा कि धौनी को पहले से ही पता होता था कि पिच का बर्ताव कैसा होगा और इससे हमें मदद मिलती थी। अगर वो नहीं होते हैं तो हमें पिच के बारे में समझने में ही दो ओवर लग जाते हैं।

वहीं दूसरी तरफ बीसीसीआइ के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने कहा कि दो बार के विश्व कप विजेता कप्तान धौनी के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में हासिल करने लिए कुछ नहीं बचा था। श्रीनिवासन ने यह भी कहा कि धौनी के संन्यास से एक युग का अंत हो गया। श्रीनिवासन ने कहा, जब धौनी कहते हैं कि वह संन्यास ले रहे हैं तो यह एक युग के खत्म होने जैसा है। उनकी कप्तानी में भारत ने 2007 में टी-20 विश्व कप जीता, 2011 में विश्व कप हासिल किया। इसके अलाव चैंपियंस ट्रॉफी की सफलता भी है। वह एक उत्कृष्ट कप्तान, एक शानदार विकेटकीपर, एक आक्रामक बल्लेबाज रहे है। एक ऐसा खिलाड़ी जिसने पूरी टीम को प्रेरित किया।

उन्होंने कहा, उसके लिए हासिल करने के लिए और क्या बचा था? हर खेल प्रेमी जानता है कि किसी समय वह संन्यास की घोषणा करेंगे। मुझे दुख है कि वह फिर से भारत के लिए मैदान में नहीं उतरेंगे, लेकिन इस बात की खुशी है कि वह चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के लिए खेलना जारी रखेंगे। श्रीनिवासन ने कहा, वह क्रिकेट के मैदान में दिखेंगे। सीएसके अब वैश्विक ब्रांड है। लोग इस बात को लेकर खुश होंगे कि वह उनके कौशल को मैदान पर देख सकेंगे। श्रीनिवासन से जब उनसे पूछा गया कि धौनी कब तब खेलेंगे तो उन्होंने कहा, मैं चाहूंगा कि वह हमेशा खेलें। आपको बता दें कि एम एस धौनी ने अपने 16 साल के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को 15 अगस्त 2020 को अलविदा कह दिया था। धौनी के साथ सुरेश रैना ने भी इसी दिन क्रिकेट से संन्यास लिया था।

Leave a Reply